साल्ले भईये

  कहाँ जाएगा भईये? , एक तंग पुल पे बस रुकी तो कंडक्टर भाई ने सड़क […]

जोरू का ग़ुलाम

तुम किचन में क्यूँ खड़े थे? कुछ तो ख्याल करो , मर्द हो, मर्दों को […]

(जीवन) यात्रा!

कहाँ जाओगे साहब? मंदिरों की तरफ जाएगी ये बस? हाँ साहब , पूरे रूट पे […]

(भोंदू) गोपाल

कहानी समझ आई? नहीं आएगी तेरी समझ में, तू जा, घर जा, खुश रह तेरे […]

The Traffic Barrier

There is a barrier ahead and I see cops, for god sake let me drive, […]

One Day in the Life Of a Navodya Student

पी वी नरसिम्हा राव ने १९८५ में जो शुरू किया, वो आज तमिल नाडू को […]